Hindi Books

Hindi Books

34 products

Showing 1 - 24 of 34 products
View
Raghuvansham of Kalidasa
Raghuvansham of Kalidasa
SPECIFICATION:
  • Publisher : Chaukhamba Surbharati Prakashan
  • By : Dr. ShreeKrishnamani Tripathi
  • Cover : Paperback
  • Language : Hindi
  • Edition : 2012
  • Pages : 670
  • Weight : 717 gm
  • Size : 7.5  X 5.5 Inch
  • ISBN-10 : 9381484848
  • ISBN-13 : 9789381484845
$30
Madhava Nidanam (Roga-Viniscaya) (Set of 2 Volumes)
Madhava Nidanam (Roga-Viniscaya) (Set of 2 Volumes)
SPECIFICATION:
  • Publisher : Chaukhamba Surbharati Prakashan
  • By : Dr. Brahmanand Tripathi
  • Cover : Paperback
  • Language : Sanskrit Text with Hindi Translation
  • Edition : 2013
  • Pages : 1334
  • Weight : 1 Kg
  • Size : 8.5 INCH X 5.5 INCH
  • ASIN ‏: ‎B00I0ALJJS
$44
Jaimini Nyaya Mala
Jaimini Nyaya Mala
SPECIFICATION:
  • Publisher :CHAUKHAMBA SURBHARATI PRAKASHAN
  • By : Dr. Mahendra Pandya
  • Cover : Paperback
  • Language : Sanskrit Text with Hindi Translation
  • Edition : 2013
  • Pages : 472
  • Weight : 475 gm.
  • Size : 8.0 X 5.5 INCH
  • ISBN-10 : 9382443878
  • ISBN-13 : 9789382443872
  • ASIN:
$34
History of Natyasastra
History of Natyasastra
SPECIFICATION:
  • Publisher : Chaukhambha Surbharti prakashan
  • By : Dr. Paras Nath Dwivedi
  • Cover : Paperback
  • Language : Hindi
  • Edition : 2017
  • Pages : 588
  • Weight : 600 gm.
  • ISBN-10 : 9381484740
  • ISBN-13 ‏ : ‎ 978-9381484746
$37
Hatha Yoga Abhyasa Vidhi
Hatha Yoga Abhyasa Vidhi
SPECIFICATION:
  • Publisher : Chaukhamba Surbharati Prakashan
  • By : Dr. Yogesh Kumar Bhatt
  • Cover : Paperback
  • Language : Hindi
  • Edition : 2015
  • Pages : 283
  • Weight : 310 gm.
  • Size : 8.5 Inch X 5.5 Inch
  • ISBN-10 : 938500509X
  • ISBN-13 ‏ : ‎ 978-9385005091
$28
Guide to Ayurvedic Entrance Examination
Guide to Ayurvedic Entrance Examination
SPECIFICATION:
  • Publisher : Chaukhamba Publishing
  • By : Dr. Sanjay Patil
  • Cover : Paperback
  • Language : Hindi
  • Edition : 2017
  • Weight : 1.460 kg.
  • Size : 7.87 x 5.51 x 1.57 inches
  • ISBN-10 : 8192652599
  • ISBN-13 ‏ : ‎ 978-8192652597
$56
Ek Ladki Pani-Pani (A Novel)Ek Ladki Pani-Pani (A Novel)
Ek Ladki Pani-Pani (A Novel)
SPECIFICATION:
  • Publisher : Rajpal and Sons
  • By : Ratneshwar Kumar Singh
  • Cover : Paperback
  • Language : Hindi
  • Edition : 2019
  • Pages : 240
  • Weight : 250 gm.
  • Size : 13.97 x 1.4 x 21.59 cm
  • ISBN-10 : 9389373042
  • ISBN-13 ‏ : ‎ 978-9389373042
DESCRIPTION:

एक लड़की पानी-पानी जीवन और पानी के गहरे रिश्तों को रेखांकित करने वाला अपने ढंग का अनूठा उपन्यास है। सूखे की आशंका के दृश्य के साथ शुरू हुए इस उपन्यास की कथा के केंद्र में पानी है। जल के बिना जीवन कैसा हो जाएगा इसकी भयावह छायाएँ हैं। कहानी शुरू होती है लड़कियो के एक होस्टल से, उनके मुक्त जीवन की उन्मुक्त छवियों से। उस होस्टल में प्रवेश लेने वाली लड़कियों को पहले दिन और बातों के अलावा क़िफ़ायत के साथ पानी के इस्तेमाल के बारे में भी बताया जाता है, और यह भी कि प्रत्येक दिन एटीएम मशीन के सहारे उनको निश्चित मात्रा में पानी मिलेगा। उपन्यास में भविष्य के जीवन की छवियाँ हैं, अतीत के सूखे की यादें हैं, पानी की समस्या से निपटने की वर्तमान नाकाफ़ी तैयारियों का जायज़ा है। आसन्न संकट की छवियाँ बताने वाली आर्टीफ़िशियल इंटेलीजेंस तकनीक है। लड़कियों के कॉलेज में पानी रिसर्च एंड डेवलपमेंट की पढ़ाई होती है, उपन्यास की कहानी में पानी के नाम पर घुसपैठ हो रही है, विश्व पानी सम्मेलन हो रहा है।

यह हिन्दी में अपने ढंग का अकेला उपन्यास है जिसमें साइंस फिक्शन की तकनीकों को कुछ लड़कियों के जीवन में आए उतार-चढ़ावों के साथ इस तरह से प्रस्तुत किया गया है कि कहानी की रोचकता के साथ उपन्यास का मूल संदेश कहीं भी बाधित नहीं होता है।

बहुचर्चित उपन्यास रेखना मेरी जान के लेखक रत्नेश्वर कुमार सिंह की अब तक अलग-अलग विषयों पर दस पुस्तकें प्रकाशित हो चुकी हैं। वे पत्रकारिता साहित्य के लिए भारत सरकार द्वारा 1998 में ‘भारतेन्दु हरिश्चंद्र पुरस्कार’ से सम्मानित किये जा चुके हैं।

$25
Dhanvantari Nighantu
Dhanvantari Nighantu
SPECIFICATION:
  • Publisher : Chaukhamba Surbharati Prakashan
  • By : Dr. Jharkhande Ojha and Dr. Umapati Mishra
  • Cover : Paperback
  • Language : Hindi
  • Edition : 2011
  • Pages : 420
  • Weight : 450 gm.
  • ISBN-10 : 9385005375
  • ISBN-13 ‏ : ‎ 978-9385005374
$34
Panchadasi (Set of 4 Volumes)Panchadasi (Set of 4 Volumes)
Panchadasi (Set of 4 Volumes)
SPECIFICATION:
  • Publisher : Central Chinmaya Mission Trust
  • By : Swami Shankarananda
  • Cover : Paperback
  • Language : Hindi
  • Edition : 2011
  • Weight : 1500 gm.
  • ISBN-10 : 8175973145
  • ISBN-13 ‏ : ‎ 978-8175973145
DESCRIPTION:

Panchadasi consists of 15 chapters mainly divided into 3 parts consisting of 5 chapters each This Hindi set consist of to 4 books dealing with the chapters of Viveka Prakaran, 5 chapters of Deep Prakaran and Ananda Prakaran. 4th book consists of all 5 Ananda Prakarnas – namely 5 Brahmananda Prakarna – 1 Yogananda, 2 – Atmaandanda 3 ) AdvaitaAnanda, 4) VidyaAnanda and 5 Vishayananda

$54
An Encyclopaedia of Indian Botanis and Herbs (Set of Two Volumes)
An Encyclopaedia of Indian Botanis and Herbs (Set of Two Volumes)
SPECIFICATION:
  • Publisher : CHAUKHAMBHA SANSKRIT SANSTHAN
  • By : Chandraraja Bhandari "Visharad"
  • Cover : Hardcover
  • Language : Hindi
  • Edition : 2017
  • Pages : 11458 (383 Color Illustration)
  • Weight : 2.100 kg.
  • Size : 10.0 INCH X 7.5 INCH
  • ISBN-10 : 9381608539
  • ISBN-13 ‏ : ‎ 978-9381608531
$85
Aamool Kranti Ki Chunauti (Hindi Edition)Aamool Kranti Ki Chunauti (Hindi Edition)
Aamool Kranti Ki Chunauti (Hindi Edition)
SPECIFICATION:
  • Publisher : Rajpal and Sons
  • By : J Krishnamurti
  • Cover : Paperback
  • Language : Hindi
  • Edition : 2019
  • Pages : 176
  • Weight : 200 gm.
  • Size : 5.5 x 0.41 x 8.5 inches
  • ISBN-10 : 9389373077
  • ISBN-13 ‏ : ‎ 978-9389373073
DESCRIPTION:

‘दि अर्जेन्सी ऑव चेन्ज’ कृष्णमूर्ति की सर्वाधिक चुनौतीपूर्ण पुस्तक है, जैसा कि 1971 में लंदन से प्रकाशित इसके मूल अंग्रेज़ी संस्करण के मुखपृष्ठ पर इंगित किया गया था। जीवन से जुड़े विविध विषयों पर इस पुस्तक में बेबाकी के साथ प्रश्न-दर-प्रश्न पूछे गये हैं और कृष्णमूर्ति ने बड़ी बारीकी से उनकी पड़ताल की है। वे उत्तर देकर प्रश्न को निपटा नहीं देते, बल्कि इस सहसंवाद में उन प्रश्नों के नये, अनदेखे पहलुओं को उजागर करते चलते हैं, और साथ ही पूछ भी लिया करते हैं कि साथ-साथ की जा रही इस परख के दौरान प्रश्नकर्ता के अंतर्जगत में घटित क्या हो रहा है।

प्रश्नकर्ता: आप मुझसे पूछ रहे हैं कि हो क्या रहा है? मैं तो बस आपको समझने की कोशिश कर रहा हूँ।
कृष्णमूर्ति: क्या आप मुझे समझने की कोशिश कर रहे हैं या कि, जिस विषय में हम बात कर रहे हैं, आप उसकी सच्चाई को देख रहे हैं जो मुझ पर निर्भर नहीं करती? यदि आप, जिस विषय में हम बात कर रहे हैं, उसकी सच्चाई को वस्तुतः देख रहे होते हैं, तब आप स्वयं अपने गुरु होते हैं, और स्वयं के ही आप शिष्य होते हैं, जो कि अपने आप को समझना है। यह समझ किसी और से नहीं सीखी जा सकती।

$21
A Text Book of Ayurveda Surgery (Volume I)
A Text Book of Ayurveda Surgery (Volume I)
SPECIFICATION:
  • Publisher : Chaukhamba Surbharati Prakashan
  • By : Dr. Ashish Pareek
  • Cover : Paperback
  • Language : Hindi
  • Edition : 2018
  • Pages : 384
  • Weight : 630 gm.
  • Size : 9.45 x 7.24 x 0.87 inches
  • ISBN-10 : 9386554623
  • ISBN-13 ‏ : ‎ 978-9386554628
$36
A Comprehensive Study for Ayurvedic Competitive Examinations - With Notes on Ayurveda (Set of 2 Books)
A Comprehensive Study for Ayurvedic Competitive Examinations - With Notes on Ayurveda (Set of 2 Books)
SPECIFICATION:
  • Publisher : Chaukhamba Surbharati Prakashan
  • By : Dr. Praveen Kumar Chaudhry
  • Cover : Paperback
  • Language : Hindi
  • Edition : 2020
  • Pages : 1683
  • Weight : 1.500 kg.
  • Size : 8.5 INCH X 5.5 INCH
  • ISBN-10 : Vol-I:9789381484371
  • Vol-II: 9789383721139
$75
Dravyaguna Vijnana (Set of 5 Volumes)
Dravyaguna Vijnana (Set of 5 Volumes)
SPECIFICATION:
  • Publisher : Chaukhambha Bharati Academy
  • By : Prof P.V. Sharma
  • Cover : Paperback
  • Language : Hindi
  • Edition : 2014
  • Pages : 2710
  • Weight : 2.600 kg.
$220
Susruta Samhita (Set of 3 Volumes)
Susruta Samhita (Set of 3 Volumes)
SPECIFICATION:
  • Publisher : Chaukhambha Surbharati prakashan
  • By : Dr. Ananatram Sharma
  • Cover : Paperback
  • Language : Hindi
  • Edition : 2015
  • Weight : 2.500 kg.
  • Size : 9.13 x 6.18 x 3.27 inches
  • ISBN-10 : 9382443509
  • ISBN-13 ‏ : ‎ 978-9382443506
$120
Jataka Tattva (Hindi Edition)
Jataka Tattva (Hindi Edition)
SPECIFICATION:
  • Publisher : Chaukhambha Surbharati prakashan
  • By : Pt. Hari shankar pathak
  • Cover : Paperback
  • Language : Hindi
  • Edition : 2013
  • Pages : 536
  • Weight : 600 gm.
  • Size : 8.27 x 5.31 x 0.98 inches
  • ISBN-10 : 9382443592
  • ISBN-13 ‏ : ‎ 978-9382443599
$25
41 Anmol Kahaniya
41 Anmol Kahaniya
SPECIFICATION:
  • Publisher : Pustak Mahal
  • By : Maple Press
  • Cover : Premchand
  • Language : Hindi
  • Edition : 2015
  • Pages : 368
  • Weight : 370 gm.
  • Size : 20 x 14 x 4 cm
  • ISBN-10 : 9350337312
  • ISBN-13 ‏ : ‎ 978-9350337318
DESCRIPTION:

Premchand's literary career started as a freelancer in Urdu. In his initial short stories, he has depicted the patriotic upsurge that was sweeping the country in the first decade of the 19th century and wrote of the life around him and made his readers aware of the problems of the urban middle-class and the country's villages.

With Premchand's versatile writing skill, the stories took a valuable space in indian literature. This book is an integration of 41 stories by Premchand.

$23
21 Shrasth Kahaniyan Sadat Hasan Manto (Hindi Edition)
21 Shrasth Kahaniyan Sadat Hasan Manto (Hindi Edition)
SPECIFICATION:
  • Publisher : Diamond Pocket Books
  • By : Shahadat Hasan Manto
  • Cover : Paperback
  • Language : Hindi
  • Edition : 2019
  • Pages : 184
  • Weight : 218 gm.
  • Size : 13.97 x 0.99 x 21.59 cm
  • ISBN-10 : 9351652130
  • ISBN-13 ‏ : ‎ 978-9351652137
DESCRIPTION:

भारत के हिंदी के श्रेष्ठ कथाकारों की 21 श्रेष्ठ कहानियांए लेखक ने स्वयं चुन कर दी हैं। इस शृंखला में हिंदी के सभी प्रसिद्ध लेखकों की रचनाएँ छापी गई हैं। कहानियों के ये संकलन लेखक की भाषाए भावना और साहित्य को स्थापित करता है। उर्दू भाषा के प्रख्यात कहानीकार सआदत हसन मंटो विश्व कथा साहित्य का एक ऐसा नाम हैए जिससे साहित्य की समझ और प्रेम रखने वाला प्रत्येक पाठक परिचित है। मंटो ने अपने जीवन काल में समाज की जिस गंदगी और घिनौनेपन का अनुभव किया तथा जिंदगी के जहर को महसूस कियाए उसे ही अपनी कहानियों में उतारा। मंटो की कहानियां एक अर्थ में मनोवैज्ञानिक सनसनी पैदा करने वाली कहानियां हैं। इसमें समाज के दलितए उत्पीड़ित लोगों की मजबूरियों व उनके दुःख-दर्द को पूरी ईमानदारी से उकेरने की कोशिश की गई है । उनके वर्णन से जो ध्वनि निकलती हैए वह असाधारण रूप से जीने-मरने की कला और इन दोनों के बीच संघर्ष को व्यक्त करती है। उनकी कहानियों के मुख्य पात्र वे यातना भोगती आत्माएं है जो कमजोर जिस्म लेकर भी अपने फौलादी इरादों के बल-बूते पर कट्टर सम्प्रदायवाद के खिलाफ लड़ती हैं । श्मंटो की 21 सर्वश्रेष्ठ कहानियांश् में उनकी श्रेष्ठ कहानियों को चुनने की कोशिश की गई है जो दुनिया की विभिन्न भाषाओं में अनुदित हुई हैं । आशा है कि यह संकलन पाठकों को बेहद पसंद आएगा।

$19
Shabdarth-Vichar Kosh (Hindi Edition)Shabdarth-Vichar Kosh (Hindi Edition)
Shabdarth-Vichar Kosh (Hindi Edition)
SPECIFICATION:
  • Publisher : Rajpal & Sons
  • By : Acharya Ramchand Verma
  • Cover : Hardcover
  • Language : Hindi
  • Edition : 2010
  • Pages : 560
  • Weight : 780 gm.
  • Size : 20 x 14 x 4 cm
  • ISBN-10 : 8170281237
  • ISBN-13 ‏ : ‎ 978-8170281238
DESCRIPTION:

'शब्दार्थ-विचार कोश' में महान् माषध-तत्वज्ञ आचार्य रामचन्द्र वर्मा ने समानार्थक शब्दों का विवेचन अत्यंत वैज्ञानिक ढंग से किया है । समानार्थक शब्दों के अर्थों में मूलत: समानता रहने पर भी उनके अर्थ या आशय में जो कम-अधिक भिन्नताएँ होती हैं उन्हीं को ध्यान में रखते हुए उन्होंने इस अपूर्व ग्रंथ की रचना की है । इस कोश में समानार्थक शब्द-संमूहों को इस प्रकार विवेचित किया गया है कि मिलते-जुलते पर्याय शब्दों के अर्थों के अंतर स्वत: स्पष्ट होते जाते हैं । अपने में, यह कोश एक विशिष्ट पर्याय-कोश भी है ।

$29
Subhadrakumari Chauhan Ki Sampoorna Kahaniyan (Hindi Edition)
Subhadrakumari Chauhan Ki Sampoorna Kahaniyan (Hindi Edition)
SPECIFICATION:
  • Publisher : Rajpal & Sons
  • By : Subhadra Kumari Chauhan
  • Cover : Hardcover
  • Language : Hindi
  • Edition : 2012
  • Pages : 276
  • Weight : 420 gm.
  • Size : 20 x 14 x 4 cm
  • ISBN-10 : 935064083X
  • ISBN-13 ‏ : ‎ 978-9350640838
DESCRIPTION:

खूब लड़ी मरदानी वह तो झांसी वाली रानी थी' जैसी अमर कविता की रचयिता सुभद्रा कुमारी चौहान जितनी बड़ी कवियित्री थीं, उतनी ही बड़ी कथाकार भी थीं। कविताओं की भांति उनकी कहानियां भी हिंदी साहित्य की अमूल्य निधि हैं और पाठकों की संवेदना पर नावक के तीर का-सा असर छोड़ती हैं। सुभद्रा जी की कहानियां एक ओर जहां रूढ़ियों पर प्रहार करती हैं वही ऊपरी दिखावे कभी विरोध करती हैं। उनकी संपूर्ण कहानियों की यह प्रस्तुति हिंदी कथा साहित्य का गौरव-ग्रंथ है। पठनीय और संग्रहणीय साथ-साथ।

 

$25
Sadhna (Hindi Edition)
Sadhna (Hindi Edition)
SPECIFICATION:
  • Publisher : Rajpal & Sons
  • By : Ravindranath Tagore
  • Cover : Paperback
  • Language : Hindi
  • Edition : 2014
  • Pages : 112
  • Weight : 150 gm.
  • Size : 20.3 x 25.4 x 4.7 cm
  • ISBN-10 : 8170287685
  • ISBN-13 ‏ : ‎ 978-8170287681
DESCRIPTION:

रवींद्रनाथ टैगोर एशिया के पहले भारतीय व्यक्ति थे, जिन्हें नोबेल पुरस्कार से सम्मानित किया गया। साहित्यधर्मी तथा चितेरा होने के अतिरिक्त वे एक महान दार्शनिक तथा चिंतक भी थे। प्रस्तुत पुस्तक उनके उन दार्शनिक वक्तव्यों का मूल्यवान संकलन है, जिनमें उनके साहित्यकार मन और कलाविद को भी देखा जा सकता है।
गुरुदेव के ये वक्तव्य मनुष्य के विश्व से सम्बंध की भी व्याख्या करते हैं और उसके भीतर झांक कर उसका सम्बन्ध उसकी आत्मा, उसकी निजता से भी पहचान कर उजागर करते हैं।
इस पुस्तक में महान दार्शनिक ने व्यक्तित्व की सार्थकता जैसे महत्त्वपूर्ण प्रश्नों का बेहद सरल और बोधगम्य समाधान दिया है। एक कवि के दार्शनिक रूप को देख पाने का अनूठा रस इस पुस्तक में मिलता है।

 

$16
Raat Bhari Hai (Hindi Edition)
Raat Bhari Hai (Hindi Edition)
SPECIFICATION:
  • Publisher : Rajpal & Sons
  • By : Amrita Pritam
  • Cover : Paperback
  • Language : Hindi
  • Edition : 2015
  • Pages : 170
  • Weight : 221 gm.
  • Size : 20 x 14 x 4 cm
  • ISBN-10 : 935064116X
  • ISBN-13 ‏ : ‎ 978-9350641163
DESCRIPTION:

पाकिस्तान के नामी-गिरामी लेखकों की कहानियाँ तथा रचनाएँ जिनमें उन्होंने मज़हब और राजनीति की तानाशाही को ललकारा है - अमृता प्रीतम द्वारा प्रस्तुति।

"मेरे दिल की बस्तियाँ कई हैं, जिनमें से कई वीरान हो चुकी हैं....मेरे ननिहाल का और ददिहाल का, दोनों गाँव इस तरह छूट गए, जैसे किसी बच्चे से उसकी माँ छूट जाए। सियासत वालों ने मिलकर मुल्क बाँट लिया। लोग तक़सीम कर लिये। पंजाब भी तक़सीम हुआ है। मेरे हिस्से का पंजाब भारत बन गया। अमृता और कृश्न चंदर का पंजाब पाकिस्तान बन गया.....मेरा सतलुज दरिया कांग्रेस वालों ने ले लिया, उनका रावी मुस्लिम लीग वाले ले गए..."
- अफ़ज़ल तौसीफ़

"मेरे ख़्याल में लेखक वह होता है, जो किसी तानाशाह के जुल्मों से कम्प्रोमाईज़ नही करता। उसकी कमिटमैंट लोगों के साथ होती है। जिस अहद में वह जीता है, उस अहद में अपने इर्द-गिर्द के लोगों की पीड़ा और प्यास से अपने को आइडैन्टीफाई करता है....."

 

$18
Meri Priya Kahaniyan (Hindi Edition)
Meri Priya Kahaniyan (Hindi Edition)
SPECIFICATION:
  • Publisher : Rajpal & Sons
  • By : Yashpal
  • Cover : Paperback
  • Language : Hindi
  • Edition : 2015
  • Pages : 144
  • Weight : 150 gm.
  • Size : 5.5 x 0.34 x 8.5 inches
  • ISBN-10 : 9350640503
  • ISBN-13 ‏ : ‎ 978-9350640500
DESCRIPTION:

यशपाल की गणना हिन्दी साहित्य के निर्माताओं में की जाती है। एक विचारधारा से जुड़े होने पर भी उनकी कहानियाँ और उपन्यास-जिनकी संख्या काफी है-बहुत लोकप्रिय हुए और उन्होंने अपने ढंग से साहित्य को गहराई से प्रभावित किया। प्रस्तुत संकलन में उन्होंने स्वयं अपने अनेक कहानी संग्रहों में से चुनकर श्रेष्ठ कहानियाँ दी हैं तथा भूमिका में अपने लेखन तथा विचारों पर प्रकाश डाला है।

$18
Meri Priya Kahaniyaan (Hindi Edition)
Meri Priya Kahaniyaan (Hindi Edition)
SPECIFICATION:
  • Publisher : Rajpal & Sons
  • By : Nirmal Varma
  • Cover : Paperback
  • Language : Hindi
  • Edition : 2018
  • Pages : 112
  • Weight : 141 gm.
  • Size : 13.97 x 0.69 x 21.59 cm
  • ISBN-10 : 9350640678
  • ISBN-13 ‏ : ‎ 978-9350640678
DESCRIPTION:

हिन्दी कहानी में आधुनिक-बोध लाने वाले कहानीकारों में निर्मल वर्मा का अग्रणी स्थान है। उन्होंने कम लिखा है परंतु जितना लिखा है उतने से ही वे बहुत ख्याति पाने में सफल हुए हैं। उन्होंने कहानी की प्रचलित कला में तो संशोधन किये ही, प्रत्यक्ष यथार्थ को भेद कर उसके भीतर पहुंचने का भी प्रयत्न किया है।

$18

Recently viewed